WordPress me Website kaise banaye | Complete Guide

क्या आप WordPress पर Website बनाने का तरीका खोज रहे हैं? यदि हाँ तो आप बिलकुल सही जगह पर है, क्योंकि यहाँ पर आप जानेंगे WordPress me Website Kaise Banaye वो भी पूरे स्टेप्स के साथ। 

पहले कोई Blog या Website बनाना एक बहुत मुश्किल काम माना जाता था। खासकर यदि आप Technology के प्रति उतने जागरूक नही है, तो आपके लिए तो बिलकुल यह असंभव काम था। 

लेकिन शुक्रिया WordPress का जिसकी वजह से आज website बनाना आसान हो गया है। WordPress.org में आप बड़ी ही आसानी से अपने अनुसार एक ब्लॉग बना सकते हैं।

यदि आप Technology के बारे में ज्यादा नही भी जानते हैं तो भी आप WordPress पर website बना सकते हैं। हाँ बस आपको पढ़ना आना चाहिए और माउस को Oparate करना। 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको WordPress पर Blog बनाने का तरीका बताने जा रहे हैं। इन Steps को follow करके WordPress पर ब्लॉग बनाइये और मुश्किल से 1 घंटे में आपका ब्लॉग बनकर तैयार हो जाएगा। 

इस आर्टिकल में क्या-क्या जानने वाले हैं। 

  • Website क्यों जरूरी है?
  • Blog बनाने के अलग-अलग प्लेटफॉर्म
  • Website बनाने के लिए WordPress.org क्यों है सबसे बेहतर?
  • WordPress.com और WordPress.org में अंतर.
  • WordPress Par Website Kaise Banaye
  • Domain name क्या है?
  • Domain Name खरीदते वक्त इन बातों का ध्यान रखें.
  • Domain name कैसे खरीदें?
  • Hosting क्या है? 
  • Hosting के प्रकार
  • Hosting खरीदते समय इन बातों का विशेष ध्यान रखें.
  • Web Hosting कहाँ से खरीदें?
  • WordPress को Hosting में कैसे Install करें?

तो चलिए शुरू करते हैं। इसको पढ़ने के बाद Blogging से जुड़े सारे सवालों के जवाब आपको मिल जाएंगे। 

Website क्यों जरूरी है? (Why is a website important)

आप यह जानकर थोड़ा हैरान भी हो सकते हैं कि आज हर दिन हजारों की तादाद में Website बन रही हैं। ये सब लोग website बनाने में कोई विशेष knowledge नही रखते हैं लेकिन फिर भी वेबसाइट बना रहे हैं। 

आज के दौर में जहाँ इंटरनेट हर किसी की मोबाइल में होता है, वहाँ आपको Website बनाने के बारे में सोचना चाहिए |

आपको मैं website बनाने के कुछ कारण बताऊंगा जिसके बाद आपको यकीन हो जाएगा कि आज website बनाना सिर्फ शौक नही बल्कि जरूरत है। 

  • अपनी कला को शेयर करना. 

यदि आपके अंदर कोई कला है तो आपको उसे अपनी वेबसाइट के जरिए लोगों तक पहुंचाना चाहिए। आज के दौर में सबसे ताकतवर इंटरनेट ही है। 

यदि आप इंटरनेट का सही से लाभ उठाना चाहते हैं तो Website के ज़रिए ही उठा सकते हैं। 

  • दूसरों की मदद.

Blog के जरिए आप दूसरों की मदद कर सकते हैं। यदि आपको किसी विशेष क्षेत्र की जानकारी है तो आप उसे अपनी Website पर डाल सकते हैं, जिसकी उसकी पहुँच कई लोगों तक हो जाएगी। 

हो सकता है आपके द्वारा दी गई वह जानकारी कई लोगों के काम आ जाए। 

  • लोगों से जुड़ना.

लोगों से जुड़ने का एक अच्छा माध्यम बन सकती है Website। website के जरिए आप अपने ही तरह के तमाम लोगों से संपर्क बना सकते हैं। 

इसलिए यदि आपका शौक है लोगों को जानने का, उनसे जुड़ने का तो आपको website जरूर बनाना चाहिए। 

  • बिज़नेस को बढ़ाना.

website आपके बिज़नेस काफी Support कर सकती है यदि आप उसका सही तरह से use करें तो। अमूमन किसी एक Business की पहुँच बहुत दूर तक नही होती। 

पर वेबसाइट की पहुँच तो हर जगह होती है। इसलिए अपने बिज़नेस, प्रोडक्ट्स आदि से जुड़ी एक website बनाइए। 

जब लोग आपकी website पर जाएंगे तो उन्हें आपके प्रोडक्ट की जानकारी मिलेगी। इससे आपकी Sell बढ़ सकती है। 

  • EXtra पैसे कमाना.

Website से आप affiliate marketing के जरिए या Ads लगाकर या Online Product बेचकर कुछ एक्स्ट्रा पैसा भी कमा रहे हैं। 

आजकल लोग अधिकतर वेबसाइट इसी उद्देश्य से बनाते हैं। 

Blog बनाने के अलग-अलग प्लेटफॉर्म

अब यदि आप Professional Blogger बनने का सोच लिया है तो आपको अब Blogging की पहली सीढ़ी के बारे में जानना चाहिए। 

सबसे पहला प्रश्न आता है कि Blogging शुरू कैसे करें? कैसे अपना कंटेंट इंटरनेट पर डालें ताकि दुनियाँ भर के लोग उस तक पहुँच सकें। 

तो आपको बता दूं कि वैसे तो ब्लॉगिंग करने के कई सारे प्लेटफॉर्म है जहाँ से आप Blogging शुरू कर सकते हैं। उदाहरण के लिए Blogger, Medium, Tumblr, Squarespace,Wordpress.com

और WordPress.Org. इत्यादि. 

दोस्तों यदि आप सिर्फ Blogging करना चाहते हैं तो आप इनमे से किसी भी प्लेटफॉर्म में Blogging शुरू कर सकते हैं। 

पर यदि आप Seriously पैसे कमाने के उद्देश्य से Blogging करना चाहते हैं तो आपको WordPress का चुनाव करना चाहिए। 

Website बनाने के लिए WordPress से बढ़िया कोई और प्लेटफॉर्म नही है। 

Website बनाने के लिए WordPress.org क्यों है सबसे बेहतर

WordPress.org इस वक़्त दुनियाँ में वेबसाइट बनाने के लिए सबसे अधिक पॉपुलर है। इसकी पॉपुलैरिटी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि आज मौजूद sites में से 30% wordpress के द्वारा संचालित की जाती हैं। 

अधिकतर Blogger इसी प्लेटफॉर्म पर ही Blogging करते हैं। यहाँ पर आपeCommerce website, Blog, Business Website, Forum, Membership Site के अलावा estore जैसी websites बहुत ही आसानी से बना सकते हैं। 

WordPress.org की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहाँ पर कभी न खत्म होने वाली Free और Paid Themes, Plugins का भंडार मिल जाएगा। 

इनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट को अपने जरूरत के हिसाब से नया रूप दे सकते हैं। wordpress.org में हम आपको website बनाने के Recommand भी कर रहे हैं क्योंकि इससे आसान और बेहद ही User friendly Interface बाकी किसी और प्लेटफॉर्म में नही मिलेगा। 

WordPress को use करना इतना आसान है कि आप 1 घंटे में इसे चलाना सीख सकते हैं। यदि आप पूरी तरह से शुरुआती चरण में भी हैं तो भी बड़ी आसानी से अपनी वेबसाइट बना सकते हैं WordPress की मदद से। 

यहाँ पर मैं बार-बार wordpress.org की बात कर रहा हूँ। आप wordpress.com और wordpress.org के बीच Confuse न हों। 

WordPress.com और WordPress. org में अंतर

यदि आप अपनी Blogging की यात्रा WordPress के साथ शुरू करना चाहते हैं तो आपको WordPress.com और WordPress.org के बीच धोखा खा सकते हैं। 

इसलिए दोनों के बीच अंतर जानना बहुत जरूरी है नही तो गलत प्लेटफॉर्म के चुनने के कारण आपकी मेहनत बर्बाद हो जाएगी। 

वैसे तो ये दोनों ही प्लेटफ़ॉर्म WordPress के ही हैं, लेकिन इनमें जमीन-आसमान का अंतर है। इनमें से एक free प्लेटफॉर्म है, जबकि दूसरा प्लेटफॉर्म Paid है। 

WordPress.com एक फ्री प्लेटफॉर्म हैं, जहाँ पर आप बिना किसी खर्च के ब्लॉग बना सकते हैं। इसमे WordPress Unlimited Free Hosting आपको देता है। 

यहाँ Hosting शब्द आया है। Hosting क्या होती है यह आपको आगे तो पता ही चल जाएगा। लेकिन फिलहाल इतना जान लीजिए कि WordPress.com में आपको Hosting और Domain Name जैसे कोई ख़र्चे नही आते हैं। 

लेकिन Free चीजों की अपनी सीमाएं होती है जो कि इसमें भी है। इसमे आपके पास सिर्फ कुछ सीमित Theme ही रहेगी, उन्ही का Use आप अपने ब्लॉग में कर सकते हैं।

आप बाहर से कोई Customized Theme अपने ब्लॉग में नही लगा सकते हैं। इसके अलावा सबसे बड़ा Disadvantage यह है कि आप Google Adsence के Ad नही लगा सकते। 

यानी कि ब्लॉग से कमाई करने का सबसे बड़ा स्रोत Google Adsence का Use आप WordPress.com मे नही कर सकते हैं। 

वहीं बात करें WordPress.Org की तो यह प्लेटफॉर्म एक तरह से Content Management Service Provide करता है। 

यानी कि यदि आपके पास Hosting है और एक Domain Name है तो आप यहाँ पर अपनी वेबसाइट शुरू कर सकते हैं। 

इस प्लेटफॉर्म की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें आपके पास अपनी वेबसाइट का 100% अधिकार मिलेगा। 

बाकी दूसरे प्लेटफॉर्म में ऐसा नही होता है। WordPress.Org आपको यह अधिकार इस वजह से देता है कि आप इस प्लेटफॉर्म में सब कुछ ख़रीद कर लगाते हैं। 

यहाँ आप अपनी पसंद की Paid या Free theme लगा सकते हैं। कई Plugins का उपयोग करके अपनी website को अपने मन मुताबिक बना सकते हैं। 

आजकल WordPress.Org ही सबसे ज्यादा use किया जाता है क्योंकि यह बहुत आसान है, साथ ही आपको पूरी आजादी और अधिकार मिलता है अपनी वेबसाइट के ऊपर। 

तो आपको अब wordpress के इन दोनों Plateform के बीच अंतर समझ आ गया होगा। यदि आप Blogging शौकिया तौर पर शुरू करना चाहते है तो आपको WordPress.com चुनना चाहिए। 

वहीं यदि आप पैसा कमाने के लिए Blogging कर रहे हैं तो आपको WordPress.Org चुनना चाहिए। 

WordPress Par Website Kaise Banaye आसानी से

आजकल बाजार में आपको सैकड़ों ऐसे प्लेटफॉर्म मिल जायेंगे जहाँ से आप फ्री में website बना सकते हैं। इन सबके बीच आप थोड़ा Confuse हो सकते हैं कि कहाँ अपनी website बनाएं। 

लेकिन हम आपको wordpress का Self Hosted प्लेटफॉर्म Use करने की सलाह देंगे। 

Free website Builder में आपको कई ऐसे विकल्प भी मिलेंगे जो किसी काम के नही हैं। 

उसमे आप Custom Domain भी नही लगा सकते हैं। इसके साथ ही Free website Builder आपकी website पर कई Ads भी 

दिखाते है, जो कि visiters पर एक खराब इम्प्रेशन डालते हैं। 

इन्ही सब Disadvantage को देखते हुए और WordPress.org की खूबियों हम आपको बतायेंगे कि किस तरह से आप WordPress.org पर अपनी वेबसाइट बना सकते हैं। 

WordPress.org पर अपनी वेबसाइट बनाने के लिए आपको सिर्फ 2 चीजों की जरूरत पड़ेगी। 

  • Domain Name
  • Web Hosting

Domain Name क्या होता है? ( What is Domain Name )

WordPress.org पर जब आप अपना ब्लॉग बनाने का सोचेंगे तो आपको सबसे पहले domain Name की जरूरत पड़ेगी। 

DOmain Name के बिना किसी भी ब्लॉग का कोई भी आधार नही है। चलिए अब जान लेते हैं कि आखिर यह डोमेन नेम क्या है, और यह इतना जरूरी क्यों होता है। 

असल मे Domain Name किसी Website का नाम होता है. Domain Name वह Address भी है जहाँ पर आपकी website का सारा Content रखा हुआ है। 

Domain Name कैसे काम करता है? (How does Domain Name work?)

चलिए इसे थोड़ा Detail में समझते हैं। पहले यह जान लें कि  इंटरनेट असल मे बहुत सारे Computers का बड़ा सा Network है, जहाँ कई Computer एक दूसरे से जुड़े रहते हैं। 

हर Computer की पहचान उसके IP Address से होती है। हर कंप्यूटर का एक Unique IP Address होता है। IP Address कुछ इस तरह का होता है। 

66.249.66.1

दुनियाँ भर की सभी वेबसाइट का Data किसी न किसी Computer के Store होता है। अब यदि हमको उस Website के Data को देखना है तो हमें उस Computer तक जाना होगा जिसमें वह Data Store है। 

पर IP Address को याद रख पाना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए Domain Name की शुरुआत की गई। 

आप आप जैसे ही अपने ब्राउज़र पर किसी वेबसाइट का Domain डालते हैं तो सबसे पहले आपकी Request, global network of servers के पास जाती है। 

ये servers यह देखते हैं कि उस Domain से जुड़ा Name Server यानी कि Hosting किस कंपनी की है। उदाहरण के लिए यदि उस डोमेन ने Bluehost की Hosting ली है, तो name server कुछ इस तरह का होगा। 

ns1.bluehost.com

ns2.bluehost.com

ये Name Servers असल मे वह Computers हैं, जिनको Bluehost Manage कर रही है। अब Bluehost आपकी Request को उंस कंप्यूटर पर भेज देगी जहाँ उस वेबसाइट का Data Store है। इसे वेब सर्वर कहते हैं। 

फिर यह वेब Server कुछ Special Software की मदद से उस Data को Fetch करके आपके सामने Result दिखा देगा। 

Domain Name खरीदते वक्त इन बातों का ध्यान रखें. 

  •  Domain Name खरीदते वक्त Extension का विशेष ध्यान रखें। चलिए कुछ विशेष Extension के बारे में बात करते हैं, जो आपको जानना चाहिए। com,.Org, .net, .gov, .edu, .Name, .biz, .info ये Top level के Domain Extention माने जाते हैं।
  • इसके अलावा Country wise भी domain extention होते है। यदि आपको अपनी website किसी खास देश मे Rank करनी है तो Country से जुड़ा Extention आपके लिए ठीक रहेगा। 
  • भारत के लिए .in, अमेरिका के लिए .us, चीन के लिए, .cn, ब्राज़ील के लिए .br, है। ऐसे ही हर एक देश के लिए अलग अलग डोमेन Extention बनाए गए हैं।
  • Domain Name में आपका Main keyword जरूर होना चाहिए। 
  • कोशिश करें कि Domain Name दो शब्दों से ज्यादा न हो। इससे नाम याद रखने में आसानी होगी। 
  • Domain Name की यदि आगे चलकर Branding करना चाहते हैं, तो इसे कुछ Unique रखने की कोशिश करें। 
  • Top Level के domain Extention  महगें मिलेंगे। वही Country Wise Domain Extention आपको कम दाम में मिल जाएंगे। लेकिन Top level के domain को Google ज्यादा प्राथमिकता देता है। 

कहाँ से खरीदें डोमेन Name? (Where to buy domain name?)

इसके लिए आपको किसी Domain Name Provider वेबसाइट पर एक अकॉउंट बनाना होगा। उसके बाद आप आपके मन मुताबिक डोमेन खरीद सकते हैं। 

GOdaddy,Bigrock,Namecheap,Znetlive,EWebGuru कुछ ऐसी Famous Domain Name Provider Website हैं, जहाँ से आप Domain Name खरीद सकते हैं।

चलिए अब जानते हैं कि Hosting क्या होती है और यह क्यों जरूरी है. 

Hosting क्या है? (What is Hosting)

  • Save

यदि आप wordpress.org पर अपनी वेबसाइट बनाते हैं तो आपको Domain Name के साथ ही एक Web Hosting Sevice भी खरीदनी होगी। 

जबकि Blogger.com के Google खुद Hosting की service देता है। चलिए जानते हैं कि होस्टिंग क्या होती है. 

दोस्तों Hosting कुछ और नही बस एक Storage होती है जहाँ पर आपकी website की Files, video, Text, Images सब kuch Upload किए जाते हैं। 

इसको एक उदाहरण से समझ सकते हैं। जैसे मान लीजिए कि कोई एक दुकान खोलना चाहता है, पर उसके पास दुकान खोलने की पर्याप्त जगह नही है तो तो वह क्या करेगा? 

वह एक जगह किराए से लेगा और वहाँ पर अपने दुकान का सारा सामान रखेगा, और किराए के रूप में पैसे देगा। 

ठीक यही फंडा website और Hosting को लेकर भी चलता है। आपकी वेबसाइट 24 घंटे लोगो के लिए उपलब्ध रहे इसके लिए जरूरी है कि उसका को Content किसी ऐसी डिवाइस में रखा हो जो हमेशा इंटरनेट ले संपर्क में बना रहता हो. 

अब चूंकि यह आपके लिए संभव नही है। आप चाहें तो अपने फ़ोन या लैपटॉप में भी वेबसाइट का डेटा Store करके रख सकते हैं। लेकिन आपको इतना ध्यान रखना है कि वह डिवाइस हमेशा इंटरनेट से जुड़ा रहे। 

लेकिन आपको भी पता है कि यह संभव नही है। हमेशा इंटरनेट से हम Connect नही रह सकते है। साथ ही Space की दिक्कत आ सकती है। 

वही data यदि ठीक से Handle नही किया गया तो वह हमेशा के लिए डिलीट भी हो सकता है। इन सब समस्याओं का सामना न हो, इसलिए हम होस्टिंग खरीदते हैं। 

Hosting provide करने वाली compny के पास काफी High speed से चलने वाले कंप्यूटर होते हैं। इनमे काफी ज्यादा Space होता है। 

इन्ही कंप्यूटर्स में आपके Website के Content को Store करके रखा जाता है। जब भी कोई Visiter आपकी वेबसाइट पर Visit करना चाहता है, और आपकी वेबसाइट पर आता है तो वह Computer, IP Address को पहचानकर आपकी वेबसाइट तक Visiter को भेज देता है। 

इस तरह से आप समझ सकते हैं कि एक अच्छी होस्टिंग कितना ज्यादा जरूरी है। Hosting खरीदने से पहले आपको यह भी जानना चाहिए कि Hosting कितने प्रकार की होती है। 

Hosting के प्रकार (Types of Hosting)

आपको हमेशा अपनी वेबसाइट के आधार पर ही Hosting चुनना चाहिए। 

  • शेयर्ड वेब होस्टिंग ( Shared Web Hosting )

Shared Web Hosting ठीक उसी तरह की होती है जैसे एक कमरे में कई लोग किराए से रहते हैं। 

Shared Web Hosting में कई सारी वेबसाइट को एक ही Storage दी जाती है। 

यानी कि एक ही Computer के सारे संसाधन वो सभी वेबसाइट Use करती हैं, जो उस Shared Web Hosting का हिस्सा हैं। 

Shared Web Hosting के अपने कई फायदे हैं। जैसे की इसमे एक ही कंप्यूटर, Ram को कई लोग Use करते हैं इस वजह से इसका खर्च कम पड़ता है। 

सारी Hosting में से यह सबसे सस्ती Hosting मानी जाती है। इस वजह से जिनका बजट कम होता है, वह शुरू में Shared Web Hosting को ही चुनते हैं। 

लेकिन Shared Web Hosting की कुछ कमियाँ भी हैं। जैसे कि इसमें एक ही Storage को कई लोग मिलकर उपयोग करते हैं, इस वजह से यदि एक वेबसाइट पर Traffic ज्यादा हो जाए तो आपकी website की Speed कम हो सकती है। 

  • Save

ऐसे ही किसी एक कि website के प्रदर्शन के असर दूसरे की वेबसाइट पर पड़ सकता है।

  • वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (Virtual Private Server)

Virtual Private Server, Hosting का दूसरा प्रकार है। यह Hosting Shared Web Hosting से ज्यादा बेहतर मानी जाती है। 

इसका कारण है कि इसमें आपको एक Virtual Server बना कर दिया जाता है। जबकि Shared Web Hosting में एक ही server को कई website Use करती हैं। 

यह Virtual Server सिर्फ आपकी website के लिए होगा। इसलिए इसमे आपकी Website Down होने की दिक्कत नही होगी, क्योंकि एक सर्वर पर सिर्फ एक ही वेबसाइट है। 

  • डेडिकेटेड वेब होस्टिंग ( Dedicated Web Hosting)

Dedicated Web Hosting इन दोनों से बेहतर मानी जाती है। क्योंकि इसमें एक Physical Server आपकी वेबसाइट को दिया जाता है। जबकि Virtual Private Server में एक Physical Server में कई Virtual Server बना दिए जाते थे। 

लेकिन Dedicated Web Hosting आप तभी use करें जब आपकी वेबसाइट पर लाखों में Traffic आ रहा हो। 

आमतौर पर ऐसी Hosting Commercial website ही Use करती हैं। 

  • क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting)

Cloud Web Hosting में कई Virtual Server मिलकर एक साथ website को Manage करते हैं। इसमे आपको कभी भी website Down होने का सामना नही करना पड़ता। 

क्योंकि यदि कभी किसी एक Server पर Traffic ज्यादा बढ़ जाए तो दूसरा Server आपकी website को Support देता है। आजकल अधिकतर लोग 

Cloud Web Hosting की तरफ ज्यादा भाग रहे हैं। 

तो यहाँ पर आपको चारों तरह की मुख्य Hosting ले बारे में जानकारी दी गई है। अब आपको यह Decide करना है कि किस तरह की Hosting आपकी Website के लिए सही रहेगी। 

Hosting खरीदते समय इन बातों का विशेष ध्यान रखें.

  • कोशिश करे कि Hosting देने वाली कंपनी भारत की ही हो। इससे Hosting एक्सेस करने में कम वक्त लगेगा। 
  • इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि Hosting की Disk Space ज्यादा हो। डिस्क स्पेस mobile या Computer की Storage की तरह होती है। 
  • आपके Hosting की Bandwidth ज्यादा होना चाहिए। यह जितनी ज्यादा होगी, उतनी ज्यादा Traffic को संभाल पाएगी। 
  • Hosting देने वाली कंपनी का Up Time भी देखें। Up time यानी कि आपकी वेबसाइट इंटरनेट पर कब तक उपलब्ध रहती है। कुछ दिक्कत होने के कारण कभी कभी website कुछ वक्त के लिए बंद भी हो जाती है। इसको DownTime कहते है। अधिकतर कंपनी करीब 99.99% का UpTime दे रही हैं। 
  • आपको हमेशा ऐसी Hosting खरीदनी चाहिए जिसका Support System बहुत अच्छा हो. हालांकि सभी कंपनी दावा तो यही करती हैं कि 24 घंटे सर्विस दी जाएगी, पर ऐसा होता नही है। इसलिए Hosting खरीदते से पहले Google में Review जरूर देखें। 

Hosting कहाँ से खरीदें? (Where to buy Hosting?)

WordPress Par Website Kaise Banaye
  • Save

Leave a Comment

Copy link